Jeff Bezos Ki Biography In Hindi -जेफ बेजोस की सफलता की कहानी

नमस्कार मित्रो स्वागत  लोगो का DostudyOnline पर यहां हम लोग पढ़ेंगे Jeff Bozos की Biography हिंदी में आशा करता हूँ आप लोगो  दुनिया के सबसे अमीर इंसान की कहानी अच्छी लगेगी 

Jeff Bezos एक ऐसे इंसान हैं जिन्होंने अपने कठिन फैसले और ज़िद की वजह से जो मुकाम हासिल  किया है उसकी चर्चा आज पूरी दुनिया में होती है तो आईये पढ़ते हैं Jeff Bezos का जीवन परिचय की कैसे Jeff Bezos की शुरुआत हुयी..!

जेफ बेजोस की सफलता की कहानी (Jeff Bezos Biography in Hindi):

  • जेफ बेज़ोस का बचपन:12 जनवरी 1964
  • जन्म स्थान : अमेरिका के न्यू मेक्सिको
  • जब वे पैदा हुए तब उनकी माँ जैकलीन हाईस्कूल में पढ़ाई कर रही थी और उनकी उम्र केवल 17 साल थी।
  • पिता का नाम : टेड जॉरगेन्सेन था, वे एक बाइक की दुकान के मालिक थे।

जेफ केवल 3 साल के थे तब उनके पिता उन्हें और उनकी माँ को छोड़कर चले गए थे। इसके बाद कुछ साल तक उनकी माँ ने उन्हें अकेले ही संभाला था। जेफ जब चार साल के हुए तो उनकी माँ ने दूसरी शादी मिगवेल बेज़ोस से कर ली. मिगवेल बेज़ोस, जेफ बेज़ोस के सौतेले पिता थे 



इसके बाद जेफ अपना सरनेम ‘बेज़ोस‘ लिखने लगे। उनका परिवार ह्यूस्टन रहने चला गया। तब जेफ के पिता मिगवेल वहां इंजीनियर की तरह काम करने लगे। जेफ को शुरू से ही नई चीजों को जानने का शौक था। वे बचपन में ही अपने खिलौनों के कलपुर्ज़े अलग कर देते थे और फिर वापस उन्हें जोड़ भी देते थे।

ऐसा करके दरअसल वे जानना चाहते थे कि चीजें काम कैसे करती है। वे शुरू से ही अपनी उम्र के बच्चों से अलग थे। जेफ ने रिवर ओक्स एलिमेंट्री स्कूल से अपनी शुरुआती पढ़ाई की।

जेफ अपनी छुट्टियां अपने नाना के घर बिताया करते थे। उन्होंने शुरु से ही खुद को टेक्नोलॉजी की दुनिया में साबित किया था। बचपन में अपने बड़े भाई से बचने के लिए उन्होंने एक इलेक्ट्रिक अलार्म भी बनाया था क्युकी इनके बड़े भाई इनके कमरे में बिना बताये आजाया करते थे.

जेफ बेज़ोस की शिक्षा:

आगे चलकर उनका परिवार मियामी चला गया। यहां जेफ ने पॉलमेटो हाईस्कूल में पढ़ाई शुरू की। यहां उन्हें साइंस ट्रेनिंग प्रोग्राम में हिस्सा लेने का अवसर मिला।

उन्हें 1982 में सिल्वर नाईट अवार्ड से भी नवाजा गया था क्युकी इनके स्कूल में एक कंप्यूटर आया था और इन्होने अपने मित्रो की सहायता से उस कंप्यूटर को चलाना सिख लिया जिसको इनके स्कूल के Teachers भी नहीं चला पाए थे, जेफ अपनी कक्षा में सबसे बुद्धिमान छात्रों में से एक थे। स्कूल के दिनों से ही उनका ध्यान किताबों में रहता था लेकिन यह बात उनके माता- पिता के लिए चिंता का विषय बन गयी थी।

उन्होंने जेफ को फुटबॉल सिखाना भी शुरू किया। जेफ बेजॉस ने प्रिंसटन यूनिवर्सिटी से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग और कंप्यूटर साइंस में बेचलर ऑफ साइंस की डिग्री ली।



1986 में ग्रेजुएट होने के बाद कंप्यूटर साइंस के क्षेत्र में ही वॉल स्ट्रीट में काम किया। इसके बाद उन्होंने ‘फेटल‘ नाम की कम्पनी में भी काम किया।

Amazon कंपनी की शुरुआत कैसे हुई ?

Amazon कम्पनी की शुरुआत के पहले जेफ बेजोस ने दूसरी कई कंपनियों में काम किया। इस प्रकार कई कंपनियों में काम करने के बाद जेफ ने सोचा कि वे दूसरों के लिए कब तक ऐसे ही काम करते रहेंगे। इसके बाद उन्होंने खुद का व्यवसाय शुरू करने का मन बना लिया था।

उन्होंने अमेरिका के कई शहरों की यात्राएं की और ये जानने की कोशिश की कि लोगों को क्या चाहिए। उन्हें सर्वे में पता चला कि इंटरनेट की मांग तेजी से बढ़ रही है और यदि इसी क्षेत्र में बिज़नेस शुरू किया जाये तो सफलता मिलना तय है तब इनके हिसाब से इंटरनेट Users हर साल में 1200 % गुना बढ़ रहे थे तो इस कारन इन्होने ऑनलाइन Business करने का थान लिया 

इसके बाद वर्ष 1994 में उन्होंने अपनी नौकरी छोड़ दी और अपने घर के गेराज मे ऑनलाइन व्यवसाय की तरफ अपना पहला कदम रखा  जिसमे इनके माता पिता ने खूब सहयोग किया और इनकी कंपनी में सिर्फ ३ कर्मचारी थे और ३ कम्प्यूटर्स साथ किताबो को बेचना शुरू किया इनको किताबे पढ़ना बहुत पसंद भी था  

हालांकि उस वक्त जेफ का बिज़नस मॉडल इनके माता पिता को समझ नहीं आ रहा था। उस समय वे इंटरनेट के बारे में ज्यादा नहीं जानते थे लेकिन उन्हें अपने बेटे पर पूरा भरोसा था। इनकी माँ से जब पूछा गया कि आपको इंटरनेट का नहीं पता है फिर अपने जेफ बेज़ोस को पैसे कैसे डेडिये तब इनकी माता ने कहाँ था की हमे जेफ बेज़ोस पर पूरा भरोसा हैं और यही भरोसा इनकी कामयाबी की मिसाल हैं 



शुरआत में जेफ ने अपंनी कम्पनी का नाम ‘कैडेब्रा‘ (cadbara.com) रखा फिर कुछ महीनों बाद उसे बदलकर ‘रिलेंटलेसडॉटकॉम’ कर दिया लेकिन यह नाम भी उनके दोस्तों को पसंद नहीं आया।

1995 में अंततः उन्होंने अपनी कंपनी का नाम बदलकर ‘अमेजॉन’ रख लिया जो दक्षिणी अमेरिका की एक नदी पर आधारित था (Amazon का Logo A To Z  था क्युकी अब अमेजॉन पर a से लेकर z तक प्रोडक्ट्स मौजूद हैं)

बिज़नेस शुरू करने के सिर्फ 2 महीनों में ही अमेजॉन ने 45 से अधिक किताबें बेच दी थी। इसके बाद कुछ ही समय में उनकी हर हफ्ते की बिक्री करीब 20 हजार अमेरिकन डॉलर्स हो गयी थी।

बस यही से ही जेफ और उनकी कम्पनी ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। आगे चलकर ‘अमेजॉन’ पर अनगिनत सामान की लिस्टिंग की गई और साथ ही अब ऐमज़ॉन पर वो हर चीज़ मिलती 

इसके बाद ‘अमेजॉन’ बन गयी दुनिया की सबसे बड़ी ऑनलाइन शॉपिंग साइट। वर्तमान में जेफ़ बेजोस की कुल नेटवर्थ लगभग 125 यूएस डॉलर है और आज जेफ्फ दुनिया के सबसे अमीर आदमी हैं जिनकी कुल आय 125 छोटे बड़े देशो की GDP के बराबर हैं

आशा करता हूँ आप लोगो को ये जेफ्फ बेज़ोस की सफलता की कहानी पसंद आयी होगी

Leave a Comment

Content Protected